किन्नर के गुप्त अंग कैसे होते है | Kinner ke Gupt Ang kaise Hote hai ?

    किन्नर के गुप्त अंग चित्र, ऐसे बहुत से लोग है जो किन्नर यानी हिजड़ो के बारे में जानना चाहते है लेकिन किसी दोस्त या जानने वाले से पूछे कि किन्नर/हिजड़ा का गुप्त अंग कैसे होता है ? तो इसका जवाब नहीं मिलता, इसलिए आज हम आपको किन्नरों के बारे में जानकारी दे रहे है. Kinner ke Gupt Ang kaise Hote hai ?

    दोस्तों इस धरती पर रहने वाले सभी जीव जंतु और प्राणी को बनाने वाले भगवान ही है लेकिन भगवान के ही एक बनाये हुए वर्ग को दुनिया अपनाने को तैयार नहीं है इसलिए समाज में उन्हें सही नजर से भी नहीं देखा जाता है और वह है किन्नर यानी हिजड़ा. किन्नर के गुप्त अंग कैसे होते है ?

    Kinner ke Gupt Ang kaise Hote hai ?


    फिलहाल हम अपने टोपिक पर लोटते है - आज हमारे समाज में लोगो को किन्नर के गुप्तांग के बारे में जानने के बारे में बहुत जिज्ञासा होती है. इसलिए गूगल पर भी लोग सर्च करते है किन्नर के गुप्त अंग चित्र, हिजड़ा के गुप्त अंग लेकिन उन्हें इस विषय पर सही जानकारी नहीं मिल पाती है.

    तो वास्तव में किन्नर के गुप्त अंग कैसे होते है इसके बारे में हम आपको जानकारी दे रहे है - तो सबसे पहले आप जान ले की किन्नर दो तरह के होते है पहला वह जो पुरुष की तरह दिखता है और दुसरा वह जो महिला की तरह दिखती है लेकिन इनके गुप्त अंग के बारे में बिना देखे कुछ भी अंदाजा नहीं लगा सकते है कि उसका स्वरूप कैसा होगा ?

    वास्तव में किन्नर या हिजड़ा इंसानों की वह अवस्था है जब गर्भ में बच्चे के शरीर के विकास कर्म किसी एक लिंग का निर्धारण होते होते विकास प्रक्रीया रुक जाता है या कुछ समय बाद दुसरे लिंग का विकास होने लगता है.

    इस तरह हिजड़े या किन्नर के अंगो में पुरुष या स्त्री के अंग या तो विकसित रूप में होते है या फिर दोनों लिंगो का मिलावट हो जाता है.

    किन्नर के गुप्त अंग पुरुष या महिला के गुप्त से मिलते जुलते है लेकिन यह अविकसित रूप में होते है इसलिए इन्हें किन्नर का नाम दिया जाता है.

    तो दोस्तों आज आपने जाना किन्नर के गुप्त अंग कैसे होते है ? अधिक जानकारी के लिए युट्यूब चैनल को सबस्क्राइब कर सकते है.
    Share:

    No comments:

    Post a Comment

    15 अगस्त स्पेशल

    Follow by Email

    Labels

    About Us || Contact Us || Sitemap